You are here
Home > Jharkhand > मृतक होमगार्ड को पुलिस लाइन में दी गयी श्रद्धांजलि,एसपी ने परिवार को दिया मदद का भरोशा

मृतक होमगार्ड को पुलिस लाइन में दी गयी श्रद्धांजलि,एसपी ने परिवार को दिया मदद का भरोशा

कोडरमा।। बीती रात झंडा चौक के पास ट्रक के चपेट में आने से ड्यूटी पर तैनात होम गार्ड का जवान प्रभु भारती की दर्दनाक मौत के बाद सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया गया। वहीं ट्रक (बीआर 21 जीबी-2783 को पुलिस ने जप्त कर लिया है। मौत के बाद परिजनों ने मुआवजा को लेकर मांग किया था। पुलिस पदाधिकारियों के आश्वाशन के बाद परिजन पोस्टमॉर्टम के लिए माने थे। इधर शव को बुधवार को पुलिस लाइन लाया गया। जहां पुलिस कप्तान डॉ एहतेशाम बकारीब समेत पुलिस पदाधिकारियों व होम गार्ड जवानों ने दिवंगत होम गार्ड प्रभु भारती को श्रद्धांजलि अर्पित किया। पुलिस कप्तान ने पीड़ित परिवार को हरसंभव मदद देने का भरोशा दिया है। बतादें की मृतक होम गार्ड प्रभु भारती (55) वर्ष, तिलैया डैम के गरहाय के रहने वाले थे। बीते रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक झंडा चौक पर ड्यूटी के लिए झंडा चौक पर तैनात थे। लेकिन शेड से बर्दी पहनकर जैसे ही निकले ट्रक मौत बनकर आई और जिंदगी छीन ले गयी। मृतक का अंतिम संस्कार पैतृक गांव में किया गया। मृतक का 3 बेटा और 2 पुत्री है। जानकारी के अनुसार मृतक परिवार को पुलिस,गृह वाहिनी प्रशासन की ओर से अंतिम संस्कार के लिए आर्थिक मदद भी की गई।

नौकरी और कोविड ड्यूटी के दौरान मौत पर 50 लाख इन्सुरेंस का मिले लाभ

झारखंड होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन की ओर से मृतक के पत्नी को 5000 का चेक सौंपा है। जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह ने बताया कि प्रभु कुमार भारती की मौत की घटना काफी दुखदायी और हृदय विदारक घटना है। उन्होंने कहा कि गृह रक्षा वाहिनी के जवानों की मौत होने पर 2 लाख का प्रावधान है। वहीं कोविड महामारी में ड्यूटी करने वालों को 50 लाख का इन्सुरेंस का प्रावधान है। उन्होंने कोडरमा एसपी से मृतक के परिजन को नौकरी और कोविड गाइडलाइन के अनुसार 50 लाख इन्सुरेंस देने की मांग किया है।

मजदूर-कर्मचारी समन्वय समिति ने जताया दुख

मजदूर-कर्मचारी समन्वय समिति, कोडरमा(झारखंड) होम गार्ड जवान प्रभु भारती के निधन पर परिवारों के साथ संवेदना व्यक्त करते हुए श्रद्धाजंलि दी है। मजदूर-कर्मचारी समन्वय समिति ने जिला प्रशासन से मांग किया है कि मृतक प्रभु भारती के आश्रितों को सरकारी नौकरी एवं सरकार द्वारा निर्धारित मुआवजा राशि अविलंब भुगतान किया जाय।

Top