You are here
Home > Jharkhand > तेलंगाना में प्राइवेट नौकरी करने वाले हज़ारीबाग के लड़के को कोलकाता के लड़की से सोशल साइट के जरिये हो गया इश्क

तेलंगाना में प्राइवेट नौकरी करने वाले हज़ारीबाग के लड़के को कोलकाता के लड़की से सोशल साइट के जरिये हो गया इश्क

प्रेमिका के साथ घर लौटा तो घरवालों ने अपनाने से कर दिया इंकार, कोडरमा कोर्ट में किया शादी, पुलिस के सहयोग से पहुंचा घर

कोडरमा। ये इश्क नहीं आसां,इतना ही समझ लीजिए, एक आग का दरिया है और डूब के जाना है। जी हां,ये इश्क की दास्तां है हजारीबाग जिले के 4 माइल गांव के रहने वाले अरुण और कोलकाता के आरिफ रोड की रहने वाली साधना राय की। दरअसल सोशल साइट के जरिए दोनों की मुलाकात हुई थी। दोस्ती रंग लाई और दोनों के बीच गहरी मोहब्बत हो गई। मोहब्बत इस कदर परवान चढ़ा कि दोनों ने शादी करने की ठान ली। प्रेमी अरुण पासवान नाम का यह युवक हैदराबाद के तेलंगाना में रहकर प्राइवेट नौकरी करता था।वहीं साधना अपने परिवार के साथ कोलकाता में रहती थी। इश्क़ की वफ़ा दोनो तरफ से इस क़दर हिचकोले ले रहा था कि अरुण ने साधना राय को तेलंगाना बुला लिया और वहीं पर शिव मंदिर में जाकर शादी कर ली। दोनों लगभग 6 महीने तक पति पत्नी के रूप में रहे तेलांगना में एकसाथ रहे। इधर अरुण अपनी प्रेमिका के साथ शादी कर लेनी की बात घरवालों को फोन पर बता कर जब अपनी प्रेमिका के साथ अपने गांव पहुंचा,तो उसके घर वाले और गांव वालों ने इस रिश्ते को मानने से इंकार कर दिया और साथ ही घर परिवार से दूर रहने की हिदायत दे दी।

कोडरमा के प्रेम नायक प्रेमी जोड़ी के घर तक गए

डरा सहमा अरुण अपनी प्रेमिका को लेकर कोडरमा पहुंचा और 25 दिसंबर को कोडरमा कोर्ट में शादी कर ली साथ ही पुलिस कप्तान डॉक्टर एहतेशाम बकरीब को आवेदन देकर सुरक्षा की गुहार लगाते हुए घर में प्रवेश दिलाने की फरियाद लगाई। कोडरमा पहुंचने पर इन दोनों प्रेमी जोड़ों का अधिवक्ता वचन देवनाथ आर्य और सोशल एक्टिविस्ट प्रेमचंद्र नायक से मुलाकात हुई। इन दोनों ने इस प्रेमी जोड़े को भरपूर सहयोग दिलाया। पुलिस की मदद से इस प्रेमी जोड़े को घर पहुंचाने की जिम्मेवारी उठाई। कोडरमा से इस प्रेमी जोड़े को बरही थाना भेजा गया,जहां से उन्हें पदमा ओपी क्षेत्र भेज दिया गया।

पदमा ओपी प्रभारी ने पहुंचाया घर

पदमा प्रभारी अजित कुमार के नेतृत्व में इस प्रेमी जोड़े को अरुण पासवान के गांव चार माइल पहुंचाया गया। अरुण अपनी प्रेमिका के साथ अपने घर पहुंचा तो उसके घर वालों ने इन दोनों को घर में प्रवेश देने से साफ मना कर दिया। अरुण की मां अरुण के इस प्रेम विवाह से खासा नाराज दिखी और घर में प्रवेश नहीं देने की बात करते रही। पुलिस और समाजसेवी के समझाने बुझाने के बाद बड़ी मशक्कत से अरुण की मां अरुण के कमरे में लगा ताला खोल दिया। पुलिस और समाजसेवी की उपस्थिति में प्रेमी जोड़े ने अपने मां के चरण छू कर आशीर्वाद लिया और अरुण अपनी पत्नी के साथ कमरे में चला गया। अब देखना लाजमी होगा कि अरुण और साधना राय की मोहब्बत कितने लोगों का दिल जीत पाती है। फिलहाल इस पूरे घटना में कोडरमा जिले के रहने वाले प्रेमचंद नायक की भूमिका काफी सराहनीय है जिन्होंने पुलिस के सहयोग से इस प्रेमी जोड़े को घर तक ले जाने और घर में प्रवेश दिलाने में अहम भागीदारी निभाई है।

Top