You are here
Home > Jharkhand > केन्द्र सरकार की नीतियों के कारण मजदूर-कर्मचारी बने है बंधुवा मजदूर-नवीन चौधरी

केन्द्र सरकार की नीतियों के कारण मजदूर-कर्मचारी बने है बंधुवा मजदूर-नवीन चौधरी

झारखण्ड राज्य पेयजल एवं स्वच्छता विभाग कर्मचारी संघ का प्रथम जिला सम्मेलन संपन्न


कोडरमाः झारखण्ड राज्य पेयजल एवं स्वच्छता विभाग कर्मचारी संघ का प्रथम जिला सम्मेलन लखीबागी,कोडरमा में सम्पन्न हुआ। इस सम्मेलन में मुख्य वक्ता-सह-उद्घाटनकर्त्ता अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के राज्य अध्यक्ष नवीन चौधरी, विशिष्ट अतिथि राज्य महासंघ के कामेश्वर प्रसाद, झारखण्ड राज्य अवर वन सेवा संघ के महामंत्री शिवनारायण महतो, राँची अवर वन सेवा संघ के जिला अध्यक्ष शिवनारायण पासवान, झारखण्ड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के जिला अध्यक्ष शैलेन्द्र कुमार तिवारी, जिला मंत्री शशि कुमार पाण्डेय, जिला संयुक्त मंत्री दिनेश रविदास एवं पूर्व कर्मचारी नेता जगदीश चौधरी उपस्थित थे। सम्मेलन में सर्व प्रथम शोक प्रस्ताव पेश किया गया। इसके बाद महासंघ के राज्य अध्यक्ष नवीन चौधरी के नेतृत्व में सामुहिक रूप से दीप प्रज्जवलित कर सम्मेलन का उद्घाटन किया गया।

महासंघ के राज्य अध्यक्ष नवीन चौधरी ने बताया कि स्वास्थ्य, पेयजल सहित अन्य विभागों में बाह्यस्त्रोत से कर्मचारियों से कार्य लिया जा रहा है। इन कर्मचारियों को न समय पर मानदेय दिया जाता है और न हीं समय सीमा के अन्दर कार्य लिया जाता है। वहीं दूसरी तरफ स्थायी कर्मचारियों के भी श्रम का बड़े पैमाने पर शोषण किया जा रहा है। सरकार अपने कर्मचारियों को बंधुवा मजदूर के रूप में कार्य लेकर इनके भविष्य एवं विभाग के साथ खिलवाड़ कर रही है। उपस्थित सभी कर्मचारी नेताओं ने सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों पर व्यापक रूप से अपने-अपने विचार रखे।सम्मेलन में पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की कमिटि का गठन किया गया है।

जिसके संरक्षक दिनेश रविदास सम्मानित अध्यक्ष जगदीश चौधरी, अध्यक्ष भातू चौधरी,जिला मंत्री सुभाष शर्मा, उपाध्यक्ष धरीक्षण प्रसाद, ईश्वर दास, मोहन साव, संयुक्त मंत्री विक्की कुमार, दिनेश गोप, किशोर राम, संगठन मंत्री दशरथ सिंह, विजय कुमार शर्मा, राहुल कुमार वर्मा, कोषाध्यक्ष विरेन्द्र कुमार चौधरी, अंकेक्षक प्रकाश यादव, संघर्ष मंत्री अरविन्द सिंह, संघर्ष अध्यक्ष हुलास यादव, संघर्ष संयुक्त मंत्री अर्जुन यादव, असंघर्ष उपाध्यक्ष महेन्द्र कुमार चुने गये। इस सम्मेलन की अध्यक्षता सुभाष शर्मा एवं भातु चौधरी के द्वारा किया गया। सम्मानित अध्यक्ष जगदीश चौधरी के संबोधन के साथ सम्मेलन की कार्यवाही समाप्त की गयी।

Top