You are here
Home > Jharkhand > माले-ऑल इंडिया किसान महासभा ने किसान आंदोलन के समर्थन में प्रतिवाद मार्च व सभा की

माले-ऑल इंडिया किसान महासभा ने किसान आंदोलन के समर्थन में प्रतिवाद मार्च व सभा की

जयनगर । राष्ट्रव्यापी किसान आंदोलन के समर्थन में अखिल भारतीय किसान महासभा व भाकपा( माले) ने जयनगर के पेठियाबागी से थाना चौक तक प्रतिवाद मार्च निकाली। साथ ही पेठियाबागी चौक पर सभा भी की। अध्यक्षता माले प्रखंड सचिव अशोक यादव ने और संचालक जिला कमेटी सदस्य मुन्ना यादव ने किया। इस दौरान किसान विरोधी तीनों काला कानून-मोदी सरकार वापस लो,अडानी-अंबानी के इशारे पर लाए गए,तीनों कृषि कानून को वापस ले आदि नारे लगाए गए। सभा को अखिल भारतीय किसान महासभा के संयोजक राजेंद्र मेहता ने संबोधित करते हुए कहा की केंद्र सरकार अंबानी अडानी के इशारे पर कृषि अध्यादेश कानून बनाकर किसानों को गुलाम बनाने की साजिश रचा है। मोदी सरकार नें पूंजीपति मित्रों को लाभ देने के लिए किसान,मजदूर विरोधी काला कानून को लागू करने पर आमदा है। श्रम कानून को संशोधन कर 8 घंटे के जगह 12 घंटे का कार्य अनिवार्य किया है, जो अगले वर्ष लागू होगा। उन्होंने कहा कि जब तक किसान अध्यादेश बिल को वापस नहीं लिया जाएगा किसानों के आंदोलन को गांव गांव तक ले जाकर चौपाल लगाकर किसान विरोधी कानून को विरोध जारी रहेगा। किसान महासभा के असगर अंसारी,इंकलाबी नौजवान सभा के कौलेशवर राणा ने कहा की केंद्र की मोदी सरकार तानाशाही रवैया अपनाकर हिटलर के रास्ते पर चल चुकी है।घर वापसी,एनआरसी-एनपीआर, नोटबंदी के नाम पर किसान मजदूर,छात्र,नौजवानों को तबाह करने का काम किया गया है। नैतिकता के आधार पर ऐसी सरकार को सरकार में बने रहने का अधिकार नहीं है। आने वाले दिनों में किसान-मजदूर आंदोलन विकराल रूप धारण कर मोदी सरकार को सत्ता से बाहर करेगी।प्रतिवाद मार्च में झुमरी तिलैया नगर सचिव संदीप कुमार,कोडरमा प्रखंड सचिव तुलसी कुमार राणा,हातिम खान, अनवर हुसैन,श्रीकांत ठाकुर, इस्लाम अंसारी, शंभू नाथ बर्मा, राजेंद्र दास, अनवर हुसैन, सुरेंद्र सिंह, विजय राणा, मुन्ना सिंह, मोबिन अंसारी,शहादत अंसारी, अहमद अंसारी, प्रकाश रजक, मुस्ताक अंसारी, मिथिलेश कुमार, प्रवीण कुमार, मनीर अंसारी समेत कई लोग मौजूद थे।

Top