You are here
Home > Jharkhand > CAA-NPR-NRC के खिलाफ़ महाधरना पर ब्रेक, प्रशासन से वार्ता के बाद टूटा अनशन

CAA-NPR-NRC के खिलाफ़ महाधरना पर ब्रेक, प्रशासन से वार्ता के बाद टूटा अनशन

संविधान का करेंगे पालन,असनाबाद की जगह दूसरे स्थान पर होगा धरना,घोषणा होगी शीघ्र-आयोजक

झुमरीतिलैया। शाहीनबाग,दिल्ली के तर्ज पर किया जा रहा विरोध-प्रदर्शन प्रशासन व आयोजक के बीच वार्ता के बाद सीएए,एनआरसी और एनपीआर के विरोध में महाधरना को स्थगित कर दिया गया है। नागरिकता संशोधन कानून वापस लेने की मांग को लेकर “हम भारत के लोग”के बैनर तले अनिश्चित कालीन महाधरना का आयोजन 4 फरवरी से किया था। आयोजन को लेकर प्रशासन की अनुमति को लेकर अंतिम समय तक सस्पेंस बना हुआ था। प्रशासन ने कुछ शर्तों के आधार पर उक्त स्थल पर सामाजिक एकता मंच को धरना-प्रदर्शन की इजाजत दी थी। मंगलवार को काफी संख्या में लोग धरना में शामिल हुए थे। बुधवार को भी धरना स्थल पर काफी संख्या में लोग पहुंच रहे थे। एनएच 31 के किनारे और अतिव्यस्त इलाके में धरना को लेकर प्रशासन ने आयोजकों से धरना स्थल परिवर्तन करने की अपील किया। धरनास्थल पर एसडीओ विजय वर्मा, एसडीपीओ राजेन्द्र प्रसाद, तिलैया थाना प्रभारी और आयोजकों के बीच वार्ता हुई। जिसके बाद प्रशासन के द्वारा दिये गए विकल्प व संविधानिक दायित्वों के निर्वहन करते हुए शांतिपूर्ण धरना को स्थगित कर दिया गया। धरना को स्थगित करते हुए खालीद खलील ने कहा कि गांधी के देश मे मोहब्बत का पैगाम हर दिल तक पहुंचनी चाहिए। उन्होंने कहा कि धरना प्रदर्शन करना जनता का संवैधानिक अधिकार है। लेकिन कोई अगर नफ़रत फैलाएगा तो उसे नफरत फैलाने की इजाजत कोई नही देगा। उन्होंने कहा कि एनएच किनारे अगर धरना देने से विधि व्यवस्था में प्रभाव पड़ता है तो प्रशासन की अपील को सर आंखों पर लेकर धरना स्थगित करने की घोषणा करते है। साथ ही प्रशासन से अपील करते है,जहां भी विधि व्यवस्था ध्वस्त होने की गुंजाइश हो वहां भी यह नियम लागू करें। उन्होंने ऐलान किया कि यह विरोध प्रदर्शन प्रशासन के द्वारा चिन्हित स्थल पर उसी ऊर्जा और जोश के साथ अगले कुछ दिनों बाद से की जाएगी। मौके पर भारी संख्या में लोग मौजूद थे।

एसडीपीओ नें जूस पिला तुड़वाई अनशन

“हम भारत के लोग” के बैनर तले आयोजित महाधरना 4 फरवरी से शुरू हुई थी। महाधरना में राजद नेता खालिद खलील और कांग्रेस अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष अबु कैशर समेत कई लोग अनशन पर थे। प्रशासन की ओर से धरना की वजह से यातायात व्यवस्था और विधि व्यवस्था में आने वाली परेशानी को देखते हुए । धरना स्थल परिवर्तन करने की अपील की थी। प्रशासन की ओर एसडीओ विजय वर्मा,एसडीपीओ राजेन्द्र प्रसाद,सीओ अशोक कुमार, तिलैया थाना प्रभारी और आयोजको के बीच वार्ता हुई। जिसमें प्रशासन की अपील को मानते हुए महाधरना को समाप्त करने की घोषणा की गई। वही शाहीनबाग़ के तर्ज पर आनेवाले दिनों में प्रशासन के चिन्हित स्थल पर महाधरना करने की सहमति बनी। आगामी धरना प्रदर्शन की तिथि और स्थल बाद में घोषित किया जाएगा। इस दौरान एसडीपीओ राजेन्द्र प्रसाद नें अनशनकारियों को जूस पिलाकर अनशन तुड़वाई।

गांधी के मोहब्बत का पैगाम देने वाले लोग है।शांति और भाईचारगी के लिए संघर्ष जारी रहेगा। नागरिकता संशोधन कानून के ख़िलाफ़ फिलहाल संविधान व प्रशासन के गाइडलाइन का पालन करते हुए महाधरना को स्थगित किया गया है। आनेवाले दिनों में प्रशासन के गाइडलाईन के मद्देनजर यातायात व विधि व्यवस्था की कोई समस्या उत्पन्न ना हो, वैसे स्थल पर महाधरना जोश, ऊर्जा के साथ किया जाएगा। तिथि की घोषणा आयोजक साथियों के साथ बैठक कर की जाएगी। साथ ही प्रशासन से अपील है कि धरना प्रदर्शन का प्रशासनिक गाइडलाइन सबों पर एकसमान लागू किया जाय। संविधान का पालन करना हम सभी नागरिकों का कर्तव्य है।

ख़ालिद खलील,”हम भारत के लोग”

Top